PM Vishwakarma Yojana : प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना से गरीब और माध्यम वर्ग के परिवारों मिलेगा 5 लाख तक का लोन फ्री में

PM Vishwakarma Yojana : प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना से गरीब और माध्यम वर्ग के परिवारों मिलेगा 5 लाख तक का लोन फ्री में

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma Yojana) भारत सरकार की एक योजना है जो लघु, सूक्ष्म और मध्यम (MSME) इकाइयों के लिए कौशल विकास, मान्यता, और वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इस योजना का उद्देश्य इन इकाइयों को आधुनिक तकनीक और उपकरणों तक पहुंच प्रदान करके उनकी उत्पादकता और दक्षता में सुधार करना है।

भारतीय अर्थव्यवस्था के कार्यबल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा कारीगरों और शिल्पकारों से बना है जो अपने हाथों और औजारों से काम करते हैं, आमतौर पर स्व-रोज़गार होते हैं और आम तौर पर अर्थव्यवस्था के अनौपचारिक या असंगठित क्षेत्र का हिस्सा माने जाते हैं। इन पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को ‘विश्वकर्मा’ कहा जाता है और ये लोहार, सुनार, कुम्हार, बढ़ई, मूर्तिकार आदि व्यवसायों में लगे हुए हैं। ये कौशल या व्यवसाय पारंपरिक प्रशिक्षण के गुरु-शिष्य मॉडल के बाद पीढ़ी-दर-पीढ़ी पारित होते हैं। , दोनों परिवारों के भीतर और कारीगरों और शिल्पकारों के अन्य अनौपचारिक समूहों के भीतर।

उपरोक्त पृष्ठभूमि में, ‘पीएम विश्वकर्मा’ नामक एक नई योजना का उद्देश्य कारीगरों और शिल्पकारों के उत्पादों और सेवाओं की पहुंच के साथ-साथ गुणवत्ता में सुधार करना और यह सुनिश्चित करना है कि विश्वकर्मा घरेलू और वैश्विक मूल्य श्रृंखलाओं में एकीकृत हों। इस योजना का लक्ष्य विश्वकर्माओं, यानी कारीगरों और शिल्पकारों को समग्र समर्थन प्रदान करना है, ताकि वे अपने संबंधित व्यापार में मूल्य श्रृंखला को आगे बढ़ाने में सक्षम हो सकें। यह कारीगरों और शिल्पकारों द्वारा इन व्यवसायों को करने के तरीके में गुणात्मक बदलाव लाएगा और इससे उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति के साथ-साथ उनके जीवन की गुणवत्ता में भी सुधार होगा।

पीएम विश्वकर्मा को 13,000 करोड़ रुपये के प्रारंभिक परिव्यय के साथ भारत सरकार द्वारा पूरी तरह से वित्त पोषित एक केंद्रीय क्षेत्र योजना के रूप में लागू किया जाएगा।

यह योजना सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (एमओएमएसएमई), कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) और वित्तीय सेवा विभाग (डीएफएस), वित्त मंत्रालय (एमओएफ), सरकार द्वारा संयुक्त रूप से कार्यान्वित की जाएगी। भारत।

PM Vishwakarma Yojana के तहत, लाभार्थियों को निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:

  • कौशल विकास: लाभार्थियों को 6 से 12 महीने के लिए कौशल विकास कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इन कार्यक्रमों में उन्हें विशिष्ट उद्योगों में आवश्यक कौशल सिखाया जाता है।
  • मान्यता: लाभार्थियों को अपनी इकाइयों को “प्रधानमंत्री विश्वकर्मा” के रूप में मान्यता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। यह मान्यता उन्हें सरकार से विभिन्न प्रकार की सहायता प्राप्त करने के लिए योग्य बनाती है।
  • वित्तीय सहायता: लाभार्थियों को 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है। इस ऋण का उपयोग मशीनरी, उपकरण, भवन, परिवहन, विपणन, और प्रशिक्षण आदि के लिए किया जा सकता है।

PM Vishwakarma Yojana के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • आवेदक का MSME इकाई होना चाहिए।

PM Vishwakarma Yojana के लिए आवेदन ऑनलाइन या ऑफलाइन किया जा सकता है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मार्च 2025 है।

PM Vishwakarma Yojana से MSME इकाइयों को कई लाभ प्राप्त होंगे, जिनमें शामिल हैं:

  • उत्पादकता और दक्षता में सुधार
  • संगठित बाजारों में बेहतर पहुंच
  • अधिक आय अर्जन
  • रोजगार के अवसरों का सृजन

PM Vishwakarma Yojana एक महत्वपूर्ण पहल है जो भारत के MSME क्षेत्र को बढ़ावा देने में मदद करेगी।

PM Vishwakarma Yojana के तहत उपलब्ध वित्तीय सहायता के प्रकार निम्नलिखित हैं:

  • मशीनरी और उपकरण: लाभार्थियों को मशीनरी और उपकरणों की खरीद के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है।
  • भवन और निर्माण: लाभार्थियों को अपने इकाई के लिए भवन और निर्माण के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है।
  • परिवहन: लाभार्थियों को अपने इकाई के लिए परिवहन के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है।
  • विपणन और विज्ञापन: लाभार्थियों को अपने इकाई के लिए विपणन और विज्ञापन के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है।
  • प्रशिक्षण: लाभार्थियों को अपने इकाई के लिए प्रशिक्षण के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण 35% सब्सिडी के साथ दिया जा सकता है।

PM Vishwakarma Yojana के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित हैं:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • ऋण आवेदन
  • परियोजना रिपोर्ट

PM Vishwakarma Yojana के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  1. PM Vishwakarma Yojana की वेबसाइट पर जाएँ।
  2. “आवेदन करें” पर क्लिक करें।
  3. आवश्यक जानकारी भरें।
  4. दस्तावेज अपलोड करें।
  5. शुल्क का भुगतान करें।
  6. आवेदन जमा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *